Thursday, July 2, 2020
Home knowledge क्या रसोई के कचरे से पैसा बनाना संभव है? |Is it possible...

क्या रसोई के कचरे से पैसा बनाना संभव है? |Is it possible to make money from kitchen waste?

सब्जियों से खराब जैविक कचरे से बायो गैस बनाकर लाखों कमाए जा सकते हैं। गुजरात गैस कंपनी को एक नए प्रयोग के जरिए सूरत की खराब सब्जियों से बायो गैस बनाकर दिया जा रहा है। इस नए प्रयोग से प्रदूषण और जैविक कचरे से भी छुटकारा मिल रहा है। बायोगैस उन चीजों से बनाया जाता है जिनमें एक विघटित शक्ति होती है। फिर वह चाहे रसोई का कचरा हो या पेड़ या पौधे की पत्तियां, बायोगैस को जैविक कचरे से आसानी से बनाया जा सकता है। अपघटन से गैस हवा में फैल जाती है, जबकि बायोगैस अपशिष्ट गैस का उत्पादन करती है।

सूरत एपीएमसी खराब सब्जियों से गैस का उत्पादन करने वाला देश का पहला एपीएमसी है। कृषि उपज मंडी समिति खराब सब्जियों से गैस बनाकर लाखों कमा रही है। हर दिन 40 से 50 टन गैस खराब सब्जियों, फलों से बनती है। एपीएमसी हर दिन गुजरात गैस को 5100 scm बायो सीएनजी बेच रही है। इसके लिए सूरत एपीएमसी और गुजरात गैस कंपनी के बीच एक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए हैं, जिसके तहत अंतर्राष्ट्रीय बाजार में गैस की बिक्री होती है।

1000 घन मीटर गैस का दैनिक उत्पादन


सूरत एपीएमसी के अध्यक्ष रमन जानी ने कहा कि योजना प्रति दिन 50 टन कचरे का प्रसंस्करण कर रही है और प्रति दिन 1000 घन मीटर गैस का उत्पादन कर रही है। हमने गुजरात गैस कंपनी के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं और उत्पादन गैस कंपनी लाइन में चला जाता है।

बायोगैस को इस तरह घर पर बनाया जा सकता है


यदि आप घर पर रसोई के कचरे से बायोगैस बनाना चाहते हैं, तो एक प्लास्टिक का ड्रम लें और उसमें एक या दो दिन के लिए गोबर डालें। इस ड्रम को 20 से 25 दिनों तक ढक कर रखें। इसके ढक्कन में एक छोटा सा छेद रखें, जिसमें से आप रसोई का कचरा डाल सकते हैं। रसोई के कचरे को जोड़ने के बाद, इसे रॉड से मिलाएं और छेद को बंद कर दें।

आप इस छेद को 5-7 मिनट तक खुला रख सकते हैं, लेकिन अगर बहुत देर तक खुला छोड़ दिया जाए तो गैस बच जाएगी। ड्रम में दो और छेद बनाएं। एक छेद में एक पाइप (गैस कंपनी द्वारा मेरा पाइप होना चाहिए) और इसे स्टोव से संलग्न करें, जो आपको भोजन पकाने और दूसरे छेद से अतिरिक्त खाद बाहर निकालने की अनुमति देगा। यह बगीचे में या खेत में इस्तेमाल किया जा सकता है। घर से निकलने वाले 1 हजार किलो रसोई कचरे से 90 हजार क्यूबिक मीटर बायोगैस का उत्पादन किया जा सकता है, जो 35 किलोग्राम एलपीजी गैस के बराबर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

कोरोना वायरस के कण 13 फीट तक की यात्रा कर सकते हैं, 30 डिग्री तक वाष्पित हो सकते हैं, भले ही हवा न चल...

कोरोना वायरस: दुनिया भर के विशेषज्ञ सामाजिक दूरी के लिए 6 फीट की दूरी बनाए रखने की सलाह देते हैं, लेकिन एक...

प्रिय सुशांत, आज हर कोई बड़े और छोटे बदलावों के चक्र से गुजर रहा है

प्रिय सुशांत, आज आपका हर एक सितारा बड़े और छोटे बदलावों के चक्र में है, चाहे वे दिखाई दें या नहीं। यह...

आंध्रा पदेश मुफ्त लैपटॉप योजना 2020: आवेदन पत्र, पात्रता, स्थिति, सूची | AP Free Laptop Scheme

आजकल की दुनिया में टेक्नोलॉजी बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। आज की दुनिया की आवश्यकता को पूरा करने के लिए कंप्यूटर या...

कोरोना ने अर्थव्यवस्था की सच्चाई का खुलासा किया, जानिए पूरी सच्चाई

अर्थव्यवस्था: हमारे गुजरात के बड़े शहरों और वहां के विकसित लोगों ने भी जागरूकता और एहतियात के मामले में बौने साबित हुए।...

Recent Comments